बेफ़िक्र होकर YouTube का इस्तेमाल करना:

परिवार के लिए माता-पिता की निगरानी वाले मोड में YouTube के अनुभवों की जानकारी देने वाली गाइड

हर परिवार अलग होता है. इसलिए, हमने अलग-अलग विकल्प दिए हैं. डिजिटल डिवाइसों के इस्तेमाल से जुड़ी अच्छी आदतें डालने के लिए, कुछ मददगार सलाह पाएं.

जेसिका पिओत्रोवस्की

पीएचडी और डायरेक्टर, सेंटर फ़ाॅर रिसर्च ऑन चिल्ड्रन, ऐडलेसंट, ऐंड द मीडिया

एलेन सेल्की

एमडी, एमपीएच, शिशुरोग विशेषज्ञ

सुविधाएं

तीन कॉन्टेंट सेटिंग में से किसी एक को चुनें

ये सेटिंग, आम तौर पर उम्र के हिसाब से कॉन्टेंट रेटिंग को ध्यान में रखकर तय की जाती हैं. इनसे YouTube पर मौजूद, ज़्यादा विषयों और शैलियों के वीडियो ऐक्सेस करने में मदद मिलती है. माता-पिता की निगरानी वाले मोड में YouTube के अनुभवों या खाता बनाने के बारे में ज़्यादा जानें.

सुझाव

  • परिवार के लिए, इस बारे में मीडिया कॉन्ट्रैक्ट बनाएं कि आपका बच्चा कब और कहां वीडियो देख सकता है
  • यह बताएं कि बच्चे को किस तरह का कॉन्टेंट देखने की अनुमति नहीं है. इसके लिए, ऐक्शन प्लान तैयार करें
  • बच्चे को बताएं कि वीडियो देखते समय असहज, असुरक्षित महसूस करने पर या किसी भी तरह का शक होने पर क्या करना चाहिए
सुविधाएं

नकली चीज़ों के बहकावे में न आएं

बच्चे जब ऑनलाइन वीडियो देखते हैं और इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, तब यह ज़रूरी है कि वे असली और नकली चीज़ों के बीच का फ़र्क़ पहचान सकें.

सुझाव

  • अपने बच्चों को समझदारी से वीडियो देखने और अपनी सोच पर भरोसा रखने के लिए कहें
  • बच्चों को हाल ही की घटनाओं, ऐतिहासिक लोगों, और अन्य लोकप्रिय विषयों से जुड़े भरोसेमंद सोर्स खोजने का तरीका सिखाएं
  • क्लिकबेट, संदिग्ध यूआरएल, लोगो या किसी चीज़ को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने वाले टाइटल से सावधान रहें
  • बच्चों से कहें कि अगर आपको कुछ गलत लगता है, तो माता-पिता से बात करें
सुविधाएं

हमें दूसरों की भावनाओं का ख्याल रखना चाहिए

बच्चों से यह देखने को कहें कि क्या किसी वीडियो में, लोग दूसरों के साथ वैसा व्यवहार कर रहे हैं जैसा वे खुद के साथ चाहते हैं.

सुझाव

  • बच्चों को बताएं कि वे गलत वीडियो को दूसरों के साथ शेयर न करें
  • उन्हें ऐसे वीडियो की शिकायत करने का तरीका सिखाएं जिनमें नफ़रत फैलाई गई हो, किसी का उत्पीड़न किया गया हो या जो सही न हों
  • उन्हें कहें कि अगर किसी वीडियो में ऐसा कॉन्टेंट दिखे जिससे वे परेशान हों या असहज महसूस करें, तो इस बारे में किसी वयस्क को बताएं
  • उन YouTube क्रिएटर्स या चैनलों के बारे में बात करें जिनका कॉन्टेंट, लोगों पर अच्छा असर डालता है और किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है
सुविधाएं

YouTube इस्तेमाल करने के समय को कंट्रोल करें

डिजिटल वेलबीइंग से यह पक्का होता है कि टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल के हमारे तरीके से मानसिक, शारीरिक, सामाजिक या भावनात्मक स्वास्थ्य पर खराब असर न पड़े.

सुझाव

  • माता-पिता की निगरानी वाले मोड में YouTube के अनुभवों को सेट करने पर, YouTube के ब्रेक और बेडटाइम रिमांइडर अपने-आप चालू हो जाते हैं
  • अपने बच्चों को शारीरिक गतिविधि से जुड़ा कॉन्टेंट देखने के लिए बढ़ावा दें
  • Google Family Link ऐप्लिकेशन की मदद से, यह तय करें कि हर हफ़्ते YouTube का इस्तेमाल ज़्यादा से ज़्यादा कितनी देर तक किया जा सकता है
  • सूचनाओं की आवाज़ और वाइब्रेशन बंद रखने की सुविधा को अपने हिसाब से सेट करें